18/10/15

आवश्यक की आवश्यकता Importance Of Important In Hindi

Importance of Important
आवश्यक (Important) एक तुलनात्मक (Relative) शब्द है, अर्थात् हम यदि किसी कार्य को आवश्यक कहते हैं तो इसका मतलब है कि इस कार्य पर अन्य कार्यों की तुलना में अधिक ध्यान देना चाहिए और कोई काम यदि अत्यावश्यक है तो उसपर हमें आवश्यक कार्यों की तुलना में भी अधिक ध्यान देना चाहिए। इसी प्रकार यदि कोई कार्य आवश्यक नहीं है तो इसका मतलब है की उसपर आवश्यक एवं अत्यावश्यक कार्यों की तुलना में काम ध्यान देना चाहिए।

कार्यों की आवश्यकता भी समय के साथ बदलती रहती है। आज जो आवश्यक कार्य है कल वह अत्यावश्यक बन सकता है या फिर अनावश्यक भी बन सकता है। इसी प्रकार आज का अनावश्यक कार्य कल को अत्यावश्यक बन सकता है। उदाहरण के लिए यदि आप किसी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो परीक्षा के दिन तक परीक्षा की तैयारी करना आवश्यक है पर जब परीक्षा का समय आता है तो परीक्षा की तैयारी अनावश्यक हो जाती है और परीक्षा देना अत्यावश्यक हो जाता है।

सफलता की राह में एक रोड़ा यह भी है की लोग हर कार्य को आवश्यक बना लेते हैं। याद रखिये यदि आपका हर कार्य आवश्यक है तो फिर आवश्यक शब्द का कोई मतलब नहीं रह जाता क्योंकि तब हम हर कार्य को अत्यावश्यक या अनावश्यक भी कह सकते हैं। याद रखें

यदि हर चीज आवश्यक है तो फिर कुछ भी आवश्यक नहीं है।

If everything is important then nothing is important.

इसलिए प्रतिदिन के कार्यों को अत्यावश्यक आवश्यक और अनावश्यक कार्यों में बाँट कर करना चाहिए। आवश्यक और अनावश्यक चीजों का निर्णय करना भी सफलता के लिए बहुत जरूरी हो जाता है। यदि आप किसी समय में क्या आवश्यक है और क्या अनावश्यक है इसका निर्णय करने में दक्ष हैं तो आपकी सफलता कुछ हद तक सुनिश्चित मान सकते हैं।

मित्रों यह पोस्ट आपको कैसी लगी नीचे कमेंट के द्वारा हमें बताएं।

अगर आप हमारी नयी पोस्ट की जानकारी अपने ईमेल पर मुफ्त प्राप्त करना चाहते हैं तो सब्सक्राइब करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें